Loading...

4 Lines Shayari (New Shayari)

4 Lines Shayari, Best 4 Lines Shayari in Hindi & Urdu

Four Lines Shayari and Four Lines Poetry is Shayari in just Four lines. Four Lines Poetry is a popular form of Hindi and Urdu Poetry and expressed in just Four lines. Four 4 Lines Shayari is added each day on ThePoetofLove.In. 

Focused Keywords of this collection are: Four Lines Shayari, Four Lines Poetry, New 4 Lines Shayari, Best 4 Lines Shayari, Latest 4 Lines Shayari, Top 4 Lines Shayari, 4 Lines Shayari 2017,  4 Lines Romantic Shayari, 4 Lines Love Shayari, 4 Lines Sad Shayari, 4 Lines Ishq Shayari, Four line Romantic Shayari, Four Lines Love Shayari, Four Lines Sad Shayari, Four Lines Ishq Shayari, Urdu 4 Lines Shayari, Hindi 4 Lines Shayari. 

Four Line Shayari in Hindi, 4 Lines Love Shayari in Hindi

Four Line Shayari in Hindi

इन आँखों में सूरत तेरी सुहानी है
मोम सी पिघल रही मेरी जवानी है
जिस शिद्दत से सितम हुए थे हम पर
मर जाना चाहिए था, जिंदा हैं, हैरानी है
(ग़ज़ल – किरण “प्रकाश”)

In Aankhon Mein Surat Teri Suhani Hai
Maum Si Pighal Rahi Meri Jawani Hai
Jis  Shiddat Se Sitam Hue The Hum Par
Mar Jana Chahiye Tha, Jinda Hain, Hairani Hai
(Ghazal – Kiran M Lavhate “Prakash”)

Sad Love Hurt Shayari, Sad Love Hurt Shayari Images, Sad Love Hurt Shayari in Hindi, Ghazal Shayari, New Shayari 2018, New Shayari 2017, Latest Shayari, Best Shayari, sad shayari, Four Line Shayari in Hindi, 4 Lines Love Shayari in Hindi, Sad Shayari, Best Sad Shayari, New Shayari 2018, Latest Shayari

4 Lines Love Shayari in Hindi

जाँ-ब-लब   ठहरी  अब  तो   प्यारे  मेरे
तेरी  इन  निगाहों  ने  होश  सँभाले  मेरे
हर  शाम  को  होती  हैं  यही  खवाहिशें
आ  बैठोगे  तुम   दिल  के   किनारे  मेरे
(ग़ज़ल – सागर राजपूत “साहिल”)
Jaan – b – Lab     Thahri     Ab      To       Pyare       Mere
Teri    In     Nigaahon   Ne     Hosh     Sambhale    Mere
Har   Shaam    Ko    Hoti     Hain    Yahi    Khawahishein
Aa      Baithoge     Tum      Dil     Ke      Kinaare      Mere
(Ghazal By Sagar Rajput “Sahil”)

Four Line Shayari in Hindi

जिस दिल को सौंपा था मोड़ भी आया उसे
वो चाहता था छोड़ना मैं छोड़ भी आया उसे
अब के ताल्लुक ना रखेगा वो कोई मुझसे
मैं दोनों हाथों को अब जोड़ भी आया उसे
(ग़ज़ल – सन्नी सिंह “आकाश”)

Jis Dil Ko Saunpa Tha Mod Bhi Aaya Use
Wo Chahta Tha Chhodna Main Chhod Bhi Aaya Use
Ab Ke Talluk Naa Rakhega Wo Koi Mujhse
Main Dono Hathon Ko Ab Jod Bhi Aaya Use
(Ghazal By Sunny Singh “Akash”)

Urdu Sad Shayari in Hindi

तेरे ग़म ने ही संभाला है दिल को
वरना निकल गई हर हसरत होती
मेरे दिल में अगर तेरी चाहत ना होती
हर शख्स से मुझे फिर नफ़रत होती
(ग़ज़ल – सागर राजपूत “साहिल“)

Tere Gham Ne Hi Sambhala Hai Dil Ko
Warna Nikal Gayi Har Hasrat Hoti
Mere Dil Mei Agar Teri Chahat Naa Hoti
Har Shakhs Se Mujhe Fir Nafrat Hoti
(Ghazal By Sagar Rajput “Sahil”)

मोहब्बत के  आँसू को  यूँ बहाया  नहीं जाता
इस मोती  को पागल  यूँ  गंवाया  नहीं जाता
लिए हैं  बोसे मैंने  लब-ए-जा’ना के  जब से
ऐसे – वैसों से  मुंह अब  लगाया  नहीं जाता
(बोसा – चुम्बन, kiss)
(ग़ज़ल – सन्नी सिंह “आकाश”)

Loading...

Mohabbat Ke Aansu Ko Yun Bahaya Nahi Jata
Is Moti Ko Pagal Yun Ganvaya Nahi Jata
Liye Hain Bose Maine Lab-e-Ja’na Ke Jab Se
Aise – Waison Se Munh Ab Lagaya Nahi Jata
(Ghazal By Sunny Singh “Akash”)

Best Sad Shayari in Hindi

ये आइने अब घर के सँवरते क्यूँ नहीं
वो ज़ुल्फ़ के सायें बिखरते क्यूँ नहीं
लगता है ऐसे के बिछड़े हैं अभी-अभी
भूले से भी उन्हें हम भूलते क्यूँ नहीं
(ग़ज़ल – सागर राजपूत “साहिल”)

Ye Aaine Ab Ghar Ke Sanvarte Kyun Nahi
Wo Zulf Ke Sayein Bikharte Kyun Nahi
Lagta Hai Aise Ke Bichhde Hain Abhi-Abhi
Bhool Se Bhi Unhein Hum Bhoolte Kyun Nahi
(Ghazal By Sagar Rajput “Sahil”)

ख़ुशी और ग़म को समझता नहीं हूँ
वही है हाल अब जो कहता नहीं हूँ
ये वादों – कसमों को निभाना क्या है
मैं तो इक पल भी तुम्हें भूलता नहीं हूँ
(ग़ज़ल – सागर राजपूत “साहिल”)

Khushi Aur Gham Ko Samjhta Nahi Hoon
Wahi Hai Haal Ab Jo Kahta Nahi Hoon
Ye Vaadon – Kasmon Ko Nibhana Kya Hai
Main To Ik Pal Bhi Tumhein Bhulta Nahi Hoon
(Ghazal By Sagar Rajput “Sahil”)

Four Line Shayari in Hindi

ख़ुशी तो पल दो पल की मेहमान सी निकली
तेरी नज़र ही मुसलसल मेहरबान सी निकली
सोचता रहा कल रात मैं देर तलक तुम को
कल शब तेरी याद में बड़ी परेशान सी निकली
(ग़ज़ल – सागर राजपूत “साहिल”)

Khushi To Pal Do Pal Ki Mehman Si Nikli
Teri Nazar Hi Musalsal Meharban Si Nikli
Sochta Raha Kal Raat Main Der Talak Tum Ko
Kal Shab Teri Yaad Mein Badi Pareshan Si Nikli
(Ghazal By Sagar Rajput “Sahil”)

कलम की नोक पे कहानी रखी है
मैंने इक ग़ज़ल तुम्हारे सानी रखी है
(सानी – match, equal)
इन आँखों को अब क्या कहें हम
दो प्यालों में शराब पुरानी रखी है
(ग़ज़ल – सन्नी सिंह “आकाश”)

Kalam Ki Nok Pe Kahani Rakhi Hai
Maine Ik Ghazal Tumhare Saani Rakhi Hai
In Aankhon Ko Ab Kya Kahein Hum
Do Pyaalon Mein Sharab Purani Rakhi Hai
(Ghazal By Sunny Singh “Akash”)

Loading...

Ishq Shayari, Chaman Mein Har Titali

New Ishq Shayari

Ik Gham Musalsal Shabo-Roz Hai
Jisse Hai Uns Unhein, Koi Aur Hai
Phool Karein Bhi To Kya Karein Aakhir
Chaman Mein Har Titali Jaan Soz Hai

इक ग़म मुसलसल शबो-रोज़ है
जिससे है उंस उन्हें, कोई और है
फूल करें भी तो क्या करें आखिर 
चमन में हर तितली जाँ-सोज़ है

4 line shayari, 4 line ishq shayari, four lines poetry, new ishq shayari, shayari, love shayari, romantic shayari, ishq shayari, poems, loneliness, love quotes, Love Poems, be lieve, best friendship, Shayari, Message, SMS, quotes, Hindi Shayari, Urdu Shayari

4 lines Ishq Shayari

Sabab Kya Hai Jane Is Deewangi Ka
Jane Kyun Tum Pe Jaan-o-Dil Lutate Hain
Naakam Hote Hain Barhaa Ishq Mein Hum
Barhaa Tum Hi Se Fir Ishq Farmate Hain

सबब क्या है जाने इस दीवानगी का 
जाने क्यों तुम पे जान-ओ-दिल  लुटाते हैं 
नाकाम होते हैं बारहा इश्क़ में हम 
बारहा तुम ही से फिर इश्क़ फरमाते हैं 

Loading...

New Ishq Shayari 2017

Likhne Wale Ne Khub Kahani Likhi Hai
Azaabon Ke Naam Meri Jawani Likhi Hai
Meri Kismat Mein Ishq Os Ladki Ka
In Lakiron Mein Jo Begani Likhi Hai

लिखने वाले ने खूब कहानी लिखी है
अज़ाबों के नाम मेरी जवानी लिखी है
मेरी किस्मत में इश्क़ उस लड़की का
इन लकीरों में जो बेगानी लिखी है

Top new Ishq Shayari collection

Ishq  Ke  Samander  Mein  Hum  Dono
Kabhi  Utare The  Ik  Safeene  Mein
Ishq  Ki  Raaton  Mein  Ik  Raat  Thi 
Jab Bheeg Rahe The Hum Pasine Mein 

इश्क़   के   समंदर    में   हम   दोनों
कभी   उतरे    थे    इक   सफीने  में
इश्क़  की  रातों   में   इक   रात   थी 
जब   भीग  रहे   थे    हम   पसीने  में

Best Ishq Shayari

Kuchh Log Milte Hain Kismton Se
Usse Bichhad Ke Jana Hai Ye
Hai Ishq Nahi Ye Sab Ke Liye
“Akash” Humne Ab Mana Hai Ye

कुछ लोग मिलते हैं किस्मतों से
उस से बिछड़ के जाना है ये
है इश्क़ नहीं ये सब के लिए 
“आकाश” हमने अब माना है ये

Loading...