Loading...

Cool Stuff

Category Archives: Nazm Shayari

Ishq Dard Shayari (Nazm Shayari)

Tere   Paas    Naa    Kabhi    Aana   Hua
Tujhe  Dekhe  Bhi   Jaa.n  Zamana  Hua

Chhoda   Hai   Jab  Se  Dil   Ko   Tumne
Khud    Se    Hi    Dil    Na-Aashna  Hua

Us  Nazar  Ko   Paas   Pata   Nahi  Main
Jiska   Tha  Barso.n   Main   Aaina  Hua

Hasil  Kuchh  Alag  Hi  Hua  Ishq  Mein
Tujhe Naa Kabhi Pana  Naa Khona Hua

Thahar  Chuki   Ab To  Aawargi   "Sahil"
Fir   Ishq    Ki    Gali   Naa   Jana   Hua

Ishq Dard Shayari in Hindi 

तेरे   पास   ना    कभी   आना   हुआ
तुझे   देखे   भी   जाँ    जमाना   हुआ

छोड़ा  है   जब  से   दिल   को  तुमने
खुद  से  ही   दिल   ना-आशना  हुआ

उस  नज़र  को   पास  पाता  नहीं  मैं
जिसका  था  मैं   बरसों  आईना  हुआ

हासिल कुछ  अलग ही  हुआ इश्क में
तुझे  ना  कभी  पाना  ना  खोना  हुआ

ठहर चुकी अब तो आवारगी "साहील"
फिर  इश्क की  गली  ना  जाना हुआ

Ishq Dard Shayari Images (New Shayari)

Ishq Dard Shayari , Ishq Dard Shayari Images, Ishq Dard Shayari in Hindi, Nazm Shayari, Ghazal Shayari, New Shayari, Sad Shayari Images

You May Like

Love Shayari, Tere Badan Ke Aks Milte Hain
Hijr Shayari, Hizr Aata Hai Bas Darmiyan Jismon Ke
Urdu Dil Poetry, Hijr – Hijr Bikhra Tha Dil Mera

Heart Touching Sad Love Shayari in Hindi

ज़िंदगी एक ही है ये सोच 
किसी की मोहब्बतों में 
बसर करना चाहते थे

सोचते थे किसी नाज़नीं 
के नाज़ उठाएंगे 
बड़े नाज़ से

लेकिन

इन मनचाही चाहतों 
की चाहत में 
दो नीम हुआ है दिल...
(दो नीम - दो टुकड़े)

Hindi Nazm Shayari !! तवायफ़ !!

इश्क़ में भरे बाज़ार लड़कीयों कि जवानी बेची गयी
निलाम करने वाली जबान कि वो कहानी बेची गयी

हैं यहाँ पर कुछ खरीददार ऐसे जो देख बोली लगाते
उतारकर कपड़ो को औरत कि निशानी बेची गयी

आज़ाद कहाँ हुआ अभी तक यह वतन यह हिंदुस्तान
अलग - अलग लिबाज़ में औरत नई पुरानी बेची गयी

9 महीने पेट में रखकर जिस मर्द को जन्म दिया
एेसे किसी ना मर्द के हाथों उसकी जवानी बेची गयी

बदनाम होकर रह गया वो शख़्स वो शहर वो मोहल्ला
जिस शख़्स के हाथों माँ, बहन कि निशानी बेची गयी

गरीब बनकर रह गया गुलाम अमीर, हवसी लोगों का
यहाँ पर उठती आवाज अमीरों कि हुक्मरानी बेची गयी

उठकर उठाओ आवाज़ सब नर्क बनने से पहले दुनिया
सच को दबाकर यहाँ पर सरेआम बैमानी बेची गयी

Hindi Nazm Shayari !! तवायफ़ !!

hindi shayari, nazm shayari, hindi shayari images

You May Like

Love Shayari, Tere Husn Mein Wahi Adaa Purani Rakhi Hai
Zindagi Shayari 2 lines, Sad Zindagi Shayari in Hindi
Ashq Shayari 2 Lines,  New Ashk Shayari in Hindi

New Hindi Nazm Shayari (New Sad Shayari 2017)

Sirf Mohabbat Nahi Ibadat Ki Hai Uski 
Kisi Roz To Aakhir Paa Hi Lenge Use
Humar Dastras Se Wo Bahut Door Tha Lekin
Sochte The Ke Apna Bana Hi Lenge Use 

Khud Ko Samjha Dil Ne Jiska Humesha
Wo Jata Bhi Naa Kabhi Hak Gaya 
Usne Jo Bhi Parosa Mohabbat Mein 
Dil Mohabbat Se Sab Chakh Gaya

Siva Chnd Yaadon Aur Intezar Ke Wo
Mere Sirhane Aur Kuchh Naa Rakh Gaya
Yaadein Bhi Dhundhla-Si Gayi.n Rafta-Rafta
Ik Roz Aur Intezar Bhi Thak Gaya

New Hindi Nazm Shayari 

सिर्फ मोहब्बत नहीं इबादत की है उसकी 
किसी रोज़ तो आखिर पा ही लेंगे उसे 
हमारी दस्तरस से वो बहुत दूर था लेकिन 
सोचते थे के अपना बना ही लेंगे उसे 

खुद को समझा दिल ने जिसका हमेशा 
वो जता भी ना कभी हक़ गया 
उसने जो भी परोसा मोहब्बत में 
दिल मोहब्बत से सब चख गया 

सिवा चंद यादों और इंतज़ार के वो 
मेरे सिरहाने और कुछ ना रख गया 
यादें भी धुंधला-सी गईं रफ्ता-रफ्ता 
इक रोज़ और इंतज़ार भी थक गया 

New Hindi Nazm Shayari Images

Hindi Nazm Shayari, new sad shayari 2017, nazm shayari, new hindi nazm shayari
NAZM SHAYARI, SACHE PREMI BICHHA JATE HAIN
HINDI NAZM SHAYARI, TERE BAARE MEIN SOCHNA

Best Nazam in Urdu - New Nazm Shayari

Wo  jate  the, hum  dekhte  the
Ab kab milen aahein bharte the

Yaad   mein   uski   raato.n  ko 
Hum  gali - mauhale  firte  the

Bade  hasee.n wo pal  the jab
Hum   sath - sath   rehte   the

Soch - soch  ke  ab  rote hain
Haye! baatein kitani karte the

Sache premi bichhad jate hain
Wo  aksar  humse   kehte  the

Yaad  hain  ab  bas  wahi  pal
Jab hum  osse bichhadte the

Best Nazam in Urdu - New Nazm Shayari

वो जाते थे, हम देखते थे
अब कब मिलें आहें भरते थे

याद में उसकी रातों को
हम गली-मौहले फिरते थे

बड़े हसीं वो पल थे जब
हम साथ - साथ रहते थे

सोच - सोच के अब रोते हैं
हाय! बातें कितनी करते थे

सच्चे प्रेमी बिछड़ जाते हैं
वो अक्सर हम से कहते थे

याद हैं अब बस वही पल
जब हम उससे बिछड़ते थे

Best Nazam in Urdu Image

Best Nazam in Urdu, Best Nazam in Urdu image, nazm shayari
Aansoo Shayari, Tum Aansoo Ko Aansoo Samjhte Ho
Hindi Nazam Shayari, Tere Baare Mein Sochna
Dua Shayari, Meri Guzari Hui Jawani, 2 Line Shayari

12/11/2016 9:43 PM
#SunnySinghAkash

 

Hindi Nazm Shayari

Dard hai, kasak hai,

Udaas hun ya maayus hun

Meri khamoshiyon ko dekh ke

Ye socha naa kar jaa.n

Main tanha, khamosh

Isliye rehta hu ke

Taki, tujhe soch sakun

Tujhe yaad kar sakun

Kyunki,

Tere bare mein sochna

Tujhe yaad karna

Mujhe achha lagta hai

Bahut achha lagta hai 

Hindi Nazm Shayari, New Nazam Shayari 2017

दर्द है, कसक है,

उदास हूँ या मायूस हूँ

मेरी खामोशियों को देख के

ये सोचा ना कर जाँ

मैं तन्हा, खामोश

इसलिए रहता हूँ के

ताकि, तुझे सोच सकूँ

तुझे याद कर सकूँ

क्योंकि,

तेरे बारे में सोचना

तुम्हें याद करना

मुझे अच्छा लगता है

बहुत अच्छा लगता है

Hindi Nazm Shayari With Image

Hindi Shayari, Hindi Nazm Shayari, Hindi Nazm Shayari with Image, Nazm o Zabt shayari, Nazm Shayari

New Nazam Shayari 2017: Maasum Si Aankhein Inki Jeevan Ki Galiyan Hain 
Hindi Shayari on Love: Mohabbat Ek Paheli Hai Chalti Akeli Hai 

 

Make Money With Us

submit poetry, submit shayari, earn money with shayari, earn money with poetry

About Poet

Sunny Singh is a poet, author and publisher. He lives in Jawali city of India, and he has written various poems (Gazal and Nazm) in Hindi and Urdu language. He is a very creative person and after listening to his poems, fans forced to him to write stories or novels. So, from there, he tried his hand at writing.
Chat Now with Sunny Singh "Akash"

Like on Facebook

Loading...