Wo Baatein Jo Kisi Se Naa Kahi


ghazal Shayari, love shayari in hindi, romantic shayari

Ghazal Shayari | Wo Baateein Jo Kisi Se Na Kahi

वो बातें जो किसी से ना कही वो करना चाहता हूँ
मैं तेरा बस एक ख्वाब हक़ीक़त में जीना चाहता हूँ

ये हर पल की मिन्नतों से ऊब गया है अब दिल मेरा
बस इक शाम को कहीं तेरे साथ बैठना चाहता हूँ

जैसे बहारों के आने पे फूलों के लब मुस्कुराते हैं ना
कुछ इस कदर मैं तेरी जिंदगी को देखना चाहता हूँ

मेरा दुनिया से नहीं बस उस से है वास्ता "साहील"
मैं दुनिया की नहीं उसकी नज़र में रहना चाहता हूं

Sagar Rajput
Latest posts by Sagar Rajput "Sahil" (see all)

Share Your Thoughts!

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

error: Content is protected !!