अश्क पीने के लिए हैं


DdazWtPVMAIMP2w1.jpg

रोने वाले तुझे रोने का सलीक़ा ही नहीं
अश्क पीने के लिए हैं कि बहाने के लिए

– आनंद नारायण मुल्ला

Share Your Thoughts!

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

error: Content is protected !!