Tanhai Shayari (New Shayari)

Tanhai Shayari, Tanhai Poetry, Tanhaai Shayari in Hindi

ThePoetofLove.in has a huge collection of Urdu Tanhai Shayari Poetry. Feel free to feature your own Tanhai Shayari Shayari here.

NEW TANHAI SHAYARI COLLECTION

Tanhai Poetry is Hindi-Urdu poetry on being lonely. Tanhai means loneliness and people read Tanhai Poetry when they feel depressed and alone. We’ve got millions of Tanhai Shayari for you to browse.

कुछ तन्हा सा

मैं हर रात कुछ तन्हा सा हो जाता हूँ,
पता नहीं उसकी झूठी बातों में कहाँ खो जाता हूँ,
वो मुझे याद तो आती है लेकिन क्या करूं
उसके पास जा नहीं सकता,
इसलिए उसकी यादों का तकिया बनाके सो जाता हूँ|

Mere Yaar Ki Tanhai | Tanhai Shayari

ली हैं आज उम्मीद ने अंगडाई सुबह सुबह
हाय ! मेरे यार की ये तन्हाई सुबह सुबह

Tanhai Shayari, New Tanhai Shayari Collection, तन्हाई शायरी

New Tanhai Shayari Collection

Chahta To Main Bhi Hun Ke Mila-Jhula Karun Main Sabse
Magar Mujh Mein Ik Shakhs Tanha Rahne Ki Jid Karta Hai

चाहता तो मैं भी हूँ के मिला – झुला करूँ मैं सबसे
मगर मुझ में इक शख्स तन्हा रहने की जिद करता है

Tanhai Shayari, New Tanhai Shayari Collection, तन्हाई शायरी, sad shayari images, sad shayari

Kahin Toot Naa Jayein Marasim Teri Yaadon Se Bhi
Kabhi - Kabhi Tanhai Se  Bahut Darta Bhi Hun Main

कहीं टूट ना जायें  मरासिम  तेरी यादों से भी
कभी - कभी तन्हाई से बहुत डरता भी हूँ मैं

तन्हाई शायरी - न्यू तन्हाई शायरी

Duniya   Mein   Koi   Kisi   Ka   Nahi  Hota
Mujhe Chand Logon Ne Yahi Sikhaya Hai

दुनिया मैं कोई किसी का नहीं होता
मुझे चंद लोगों ने यही सिखाया है

 

Rote Hain  Ab Wahin  Tanha  Baith  Ke  "Akash"
Jahan Sath-Sath Jeene Ke Khwab Dekhte The

रोते हैं अब वहीँ तन्हा बैठ के “आकाश”
जहाँ साथ-साथ जीने के खवाब देखते थे

 

Hum Hi Hain Jo Jhel Rahe Hain Is Tanhai Ko
Agar   Tum   Hote   To   Yakinan   Mar   Jate

हम ही हैं जो झेल रहे हैं इस तन्हाई को
अगर तुम होते तो यक़ीनन मर जाते 

New Tanhai Shayari Collection

Aaj  Tanhai  Pahle  Se  Kuchh  Jyada  Hai  "Akash"
Tum Yaad Aaj Pahle Se Kuchh Jyada Aa Rahe Ho

आज तन्हाई पहले से कुछ ज्यादा है “आकाश”
तुम याद आज पहले से कुछ ज्यादा आ रहे हो

Tum Yaad  Musalsal  Aate  Ho
Main Ik Pal Ko Bhi Tanha Nahi

तुम याद मुसलसल आते हो
मैं इक पल को भी तन्हा नहीं

Apne Liye Wahi Hijr Ka Malal Tanhaiyon Ka Sath Hoga
Hum  Dil  Ke  Maaro.n  Ke  Liye  Kya  Naya  Saal Hoga

अपने लिए वही हिज्र का मलाल तन्हाइयों का साथ होगा
हम  दिल  के  मारों  के  लिए   क्या   नया   साल  होगा

तन्हाई शायरी - न्यू तन्हाई शायरी

Kabhi Dard, Kabhi Hijr, Kabhi Udasi, Kabhi Tanhai
Tere Ik Ishq Mein Dil Ko Kya-Kya Sahna Pada Hai

कभी दर्द, कभी हिज्र, कभी उदासी, कभी तन्हाई
तेरे इक इश्क में दिल को क्या-क्या सहना पड़ा है

Tum Gham Dil Ko Musalsal Dete Rahna
Teri Yaad Tanha Yahan Rah Nahi Payegi

तुम ग़म दिल को मुसलसल देते रहना
तेरी याद तन्हा यहाँ रह नहीं पाएगी

Loading...

We daily update our Tanhai poetry page, so keep coming back for more latest and new Tanhai Shayari

error: Content is protected !!